त्र्यंबकेश्वर

विश्व में एकमात्र स्थान जहां भगवान ब्रम्हा, भगवान विष्णु और भगवान शिव एक साथ एक लिंग में स्थित हैं।

अधिक जानिए

ऑनलाइन पूजा

त्र्यंबकेश्वर नहीं आ सकते? चिंता मत करो
अब आप सभी पूजा ऑनलाइन कर सकते हैं

अधिक जानिए

गुरुजी - रुपेश थेटे

+९१ ९०१११ २८१२३ | त्र्यंबकेश्वर, नासिक

गुरुजी - रुपेश थेटे

थेटे परिवार ३०० से अधिक वर्षों से पार्वोहित वैदिक प्रथाओं में रहा है। रुपेश थेटे गुरुजी ने वैदिक अनुष्ठानों का अभ्यास, जतन और कार्य १५ की उम्र से शुरु किया है|

उनके ज्ञान और वैदिक अभ्यास, कार्य और प्रथाओं के लिए लोगों ने उन्हें सम्मानित किया है| थेटे गुरुजी त्र्यंबकेश्वर मेंहोनेवालि सभी विधी / पूजा करते हैं|


अधिक पढ़े


कालसर्प शांती

गर्दीशमें हो जब किस्मत के सितारे...समझलेना, अपनेको कालसर्प दोष है प्यारे | जब आपकी जन्म कुंडली में आपके भाग्य के सितारे या नवग्रह एक ही घर मे केंद्रित हो या फिर सभी ग्रह राहु और केतु के एक ही ओर स्थित हों तो ऐसी ग्रह स्थिती को कालसर्प योग कहते है।...

अधिक पढ़े       रु २५०० | ऑनलाइन भुगतान करें

नारायण नागबली

अपने खानदान में ७ पीढ़ी मे जो लोग गुजरे हं उन्हें मोक्श प्राप्ती देने के लिये होनेवाला क्रियाकर्म - पिंडदान मतलब 'नारायण नागबली पूजा' सती के समशान भुमी में होती हैं| आदमी मरने के बाद पहले दिन से चौदावे दिन तक जो भी क्रियार्म होते है वो इस किये जाते है

अधिक पढ़े       रु ७००० | ऑनलाइन भुगतान करें

त्रिपिंडी श्राध्द

त्रिपिंडी मतलब ३ पिढियों का पिंडदान| हमारे खादान में ३ पिढिओं में बाल्य अवस्था, युवा अवस्था य व्रुद्ध अवस्था में किसी की म्रुत्यु हुई हो तो तो उनकी आत्मायें प्रेत्योनी में चली जाती है|फिर वो हमे पिडा देने लगती है| तो उन आत्माओं को गती मिलने के लिये त्रिपिंडी श्राद्ध किया जाता है...

अधिक पढ़े       रु २५०० | ऑनलाइन भुगतान करें




सभी पूजा का अन्वेषण करें

त्र्यंबकेश्वर की यात्रा नहीं कर सकते?

अब आप सभी पूजा ऑनलाइन कर सकते हैं

Follow Us And Stay Updated

Stay connected and get all the updates related to rituals and events performed at Trimbakeshwar

Guruji - Rupesh Thete | Trimbakeshwar, Nashik